हमारे बारे में
 
 

भवन एवं अन्य सन्निर्माण कार्य में लगे श्रमिक जो असंगठित श्रमिकों की श्रेणी में आते हैं को जोखिम पूर्ण परिस्थितियों में कार्य करने, अस्थाई एवं अनियमित रोज़गार, अनिश्चित कार्यअवधि, मूलभूत तथा कल्याण सुविधाओं आदि के अभाव के कारण इनकी स्थिति अत्यंत कमज़ोर तथा दयनीय होती है | पर्याप्त क़ानूनी प्रावधानों के अभाव के कारण कर्मकारों की दुर्घटनाओं की सही – सही जानकारी हासिल करना, जिम्मेदारी निर्धारित करना एवं सुधारात्मक उपाय अमल में लाना दुर्लभ कार्य था | इसलिए कर्मकारों की सुरक्षा, कल्याण एवं अन्य सेवा शर्तों को सुव्यवस्थित करने हेतु व्यापक केन्द्रीय विधान कि आवश्यकता महसूस की  गई | कर्मकारों की नियोजन तथा सेवा शर्तें, सुरक्षा, स्वास्थ्य एवं कल्याण उपायों को सुव्यवस्थित करने के उद्देश्य से भारत सरकार द्वारा भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार (नियोजन तथा सेवा शर्तें) अधिनियम, 1996 का सृजन किया गया है |

Click to enlarge/minimize

हिमाचल प्रदेश भवन एवं सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड का गठन वर्ष 2009 में भवन एवं सन्निर्माण कर्मकार (नियोजन तथा सेवा शर्तों का विनियम) अधिनियम 1996 की धारा 18 (1) के अंतर्गत हिमाचल प्रदेश सरकार की अधिसूचना सं० श्रम (ए) 4-6 बी० ओ० सी० डब्ल्यू – पी० टी०/ (एल) दिनांक 2 मार्च, 2009 द्धारा हुआ | तत्पश्चात हि० प्र० भवन एवं सन्निर्माण कर्मकार (नियोजन तथा सेवा शर्तें का विनियम) नियम, 2008 बनाये गये तथा हिमाचल प्रदेश सरकार द्धारा 4 दिसम्बर, 2008 को अधिसूचित किए गए |

प्रशासनिक ढांचा

सचिव और अन्य अधिकारी की नियुक्ति: हिमाचल प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार (नियोजन तथा सेवा शर्तें का विनियम) नियम, 2008 के नियम 263(1) के अन्तर्गत बोर्ड सरकार की पूर्व सहमति से, हिमाचल प्रदेश के बोर्ड के सचिव के रूप में श्रम एवं रोजगार विभाग के किसी अधिकारी की, जो उप- श्रमायुक्त की पंक्ति से निचे का न हो, ऐसा न होने पर श्रम एवं रोजगार विभाग के किसी सेवानिवृत अधिकारी, जो उप – श्रम आयुक्त की पंक्ति से निचे का न हो, को पुनः नियोजित कर, दोनों के न होने पर हिमाचल प्रदेश सरकार के अन्य विभागों / बोर्डों/ निगमों / के उन अधिकारियों में से जिनका 5400/- रुपए न्यूनतम ग्रेड पे सहित पन्द्रह वर्ष का कार्य अनुभव हो और पी० जी० डी० पी० एम०, डिप्लोमा या इसके समतुल्य हो सेकेंडमेंट आधार पर नियोजित करके नियुक्त करेगा |

बोर्ड सरकार की पूर्व सहमति से नियुक्त करेगा: सरकार के अनेक अधिकारी जो श्रम विभाग में श्रम अधिकारी की पंक्ति से निचे के न हों: और सरकार के किसी अन्य विभाग के ऐसे अन्य अधिकारियों और कर्मचारियों को नियुक्त कर सकता है, जिन्हें वह अधिनियम के अधीन अपने कृत्यों के सफल निर्वहन में बोर्ड की सहायता करने हेतु आवश्यक समझे | अधिनियम के अधीन अपने कृत्यों के सफल निर्वहन में बोर्ड की सहायता करने हेतु आवश्यक समझे | अतिरिक्त सचिव (श्रम एवं रोजगार) हिमाचल प्रदेश सरकार के पत्र संख्या श्रम (ए) 4-1/96-स्था० दिनांक 23.12.2009 द्धारा बोर्ड के संचालन के लिए निम्न पद सेकंडमेन्ट के आधार पर स्वीकृत हुए हैं :

1.

सचिव 

1

2.

लेखा अधिकारी

1

3.

कार्यकारी अधिकारी

1

4.

निजी सहायक

1

नोट: आर्थिक एवं योजना अधिकारी का पद समाप्त किया जा चुका है तथा इस पद के स्थान पर ए़क लिपिक व ए़क चपड़ासी का पद भरने की स्वीकृति प्राप्त हुई है |
अन्य सेवाएँ: लिपिक / कम्पयूटर /चौकीदार / सफाई कर्मचारी आदि (आवश्यकतानुसार) एक चालक नियमित व एक अनुबंध पर कार्यरत है । इसके अतिरिक्त एक चपरासी दैनिक भोगी और बोर्ड का शेष स्टाफ आउटसोर्स के आधार पर कार्यरत है ।

बोर्ड सचिव: बोर्ड सचिव बोर्ड का मुख्य कार्यकारी अधिकारी है एवं बोर्ड अध्यक्ष के अनुमोदन से बैठकें बुलाने हेतु सूचना जारी करना तथा कार्यान्वयन  का रिकार्ड रखने और बोर्ड के फैसलों को कार्यान्वित  करने के लिए आवश्यक कदम उठाने हेतु जिम्मेदार होगा | बोर्ड सचिव प्रशासनिक तथा वितीय शक्तियों भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण (नियोजन तथा सेवा शर्तें) का अधिनियम एवं नियम के अंतर्गत कृत्यों के क्रियान्वयन हेतु जिसके लिए बोर्ड द्धारा समय – समय पर प्राधिकृत किया गया हो का निर्वहन भी करेगा | सरकार की अधिसूचना सं० श्रम (ए) 4-1/2009 बी ओ सी डबल्यू दिनांक 9.04.2009 द्धारा श्री एस.सी. अवस्थी, संयुक्त- श्रम आयुक्त,  को बोर्ड सचिव का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया  तथा 31.07.2009 सेवानिवृति तक  कार्यरत रहे | तत् पश्चात श्री आर. के. सन्धु, संयुक्त श्रमायुक्त दिनांक 18-8-2009 से 24-4-2010 तक तथा श्री आर. एस. सिपहिया, उप श्रम आयुक्त ने, दिनांक 25-2-2010 से 7-2-2011 तक सचिव पद का अतिरिक्त कार्यभार सम्भाला | श्री सुरेन्द्र कुमार कौशल, श्रम अधिकारी, की सैकिण्डमैंट के आधार पर बतौर सचिव दिनांक 8-2-2011 से 20-02-2012 तक कार्यरत रहे । तत पशचात श्री रणवीर सिपहिया सचिव दिनांक 21-02-2012 से 03-01-2013 तक कार्यरत रहे तत पशचात श्रीमति नंदिता गुप्ता, आई0 ए0 एस0 दिनांक 07-01-2013 से 31-01-2013 तक कार्यरत रहीं तत पशचात श्री डी0 के0 मांटा (एच० ए0 एस0) ने कार्यभार सचिव के रूप में, उप-सचिव, हि0 प्र0 के अतिरिक्त दिनांक 01-02-2013 से 11-06-2014 कार्यरत रहे वर्तमान में श्री टी0 आर0 आज़ाद उप श्रम आयुक्त ने दिनांक 16-06-2014 से 20-10-2015 तक सचिव का अतिरिक्त कार्य भार संभाला, तत पश्चात् श्री डी. के. मांटा, एच. ए. एस. (रिटायर्ड) दिनांक 21 -10 -2015 से 02-01-2016 ने सचिव के रूप में कार्यभार संभाला, तत पश्चात् श्री एस. के. कौशल दिनांक 04-01-2016 से 03-11-2016 तक संयुक्त श्रमायुक्त के अतिरिक्त सचिव के रूप में रहे । श्रीमति ज्योति राणा (एच. ए. एस.) दिनांक 03-11-2016 से नियमित रूप में सचिव के पद पर कार्यरत हैं ।

लेखा अधिकारी: बोर्ड में वित् विभाग के एच पी एस० ए० एस० संवर्ग  के सहायक नियंत्रण (वित् एवं लेखा) श्री गोविन्द राय को प्रथम लेखा अधिकारी के रूप में दिनांक 2.02.2010 को सैकंडमेंट के आधार पर नियुक्त किया गया जो कि इस पद पर दिनांक 05-01-2015 तक कार्यरत रहे | उक्त अधिकारी बोर्ड के वित् एवं लेखा से सम्बंधित लेखा बही, नगदी एवं भुगतान , फंड नियम, लेखा परीक्षा, कर्मकारों के लिए कल्याणकारी योजनाओं में निधि तैयार करना तथा वित एवं लेखा से सम्बन्धित बोर्ड के समस्त कार्यों के लिए कार्यविधि एवं पद्धति तैयार करने व् क्रियान्वयन के लिए जिम्मेवार अधिकारी है | बोर्ड के वित् एवं लेखा सम्बन्धित प्रपत्र एवं अन्य आवश्यक कार्यप्रणाली से सम्बन्धित औपचारिकताएं भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार के अधिनियम, 1996 के उपनियम – 27 के अनुसार तैयार कि गई तथा हिमाचल प्रदेश महालेखाकार से अनुमोदित करवाया गया | बोर्ड के लेखा दोहरी लेखा प्रणाली से तैयार किए जा रहे है | तत पशचात श्री वी. पी. चौहान सहायक नियंत्रण (वित्त एवं लेखा) को दिनांक 13.01.2015 को सेकन्डमेंट के आधार पर नियुक्त किया गया जो कि इस पद पर दिनांक 06.05.2015 तक कार्यरत रहे । तत पशचात श्री प्रदीप कुमार शर्मा ने सेकन्डमेंट के आधार पर दिनांक 30.05.2015 से 12.06.2015 तक इस पद पर कार्यरत रहे । वर्तमान में श्री कैलाश चन्द्र वर्मा सहायक नियंत्रण (वित्त एवं लेखा) को दिनांक 15.06.2015 को सेकन्डमेंट के आधार पर नियुक्त किया गया है ।

कार्यकारी अधिकारी:बोर्ड में हिo प्रo विद्युत विनयामक आयोग के अधीक्षक श्री कमल दिलैक को प्रथम कार्यकारी अधिकारी के रूप में दिनांक 24-02-2014 को सेकन्डमेंट के आधार पर नियुक्त किया गया । स्थापना के साथ साथ हितकारियों के पंजीकरण का रख रखाव व् उनके हितों की अर्ज़ी का निपटारा करने का ज़िम्मा भी उक्त अधिकारी को सौंपा गया है इसके अतिरिक्त बोर्ड ने कार्यकारी अधिकारी को जान सूचना अधिकारी भी नियुक्त किया है ।

बोर्ड के कार्य को सुचारू रूप से चलाने के लिए निम्न शाखाओं का सृजन किया:    (i) लेखा   (ii) योजना एवं स्थापना

क्षेत्रीय अधिकारी/कर्मचारी वर्ग: हिमाचल प्रदेश सरकार द्धारा जारी अधिसूचना संख्या श्रम (ए) -4/2007 बी० ओ० सी० डबल्यू – पी० ती० दिनांक 30 अप्रैल 2009 द्धारा श्रम अधिकारीयों को भवन एवं सन्निर्माण कर्मकार (नियोजन तथा सेवा शर्तें के अधिनियम)1996 के अन्तर्गत कर कलेक्टर, कर निर्धारण अधिकारी एवं स्थापनाओं के पंजीकरण हेतु पंजीकरण अधिकारी,घोषित किया है इसके अतिरिक्त श्रम अधिकारी भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकारों के पंजीकरण के लिए प्राधिकृत अधिकारी है | श्रम अधिकारी स्थापनाओं के पंजीकरण, उपकर एकत्रित करना एवं कामगारों के पजीकरण के लिए उतरदायी है | लिपिक वर्ग, कम्प्युटर, चौकीदार एवं सफाई आदि सेवाएँ का प्रबंधन आउट सोर्सिंग के माध्यम से किया जा रहा है |
                                                         बोर्ड का स्टाफ (वर्तमान)

क्रम संख्या

पदनाम

स्वीकृत संख्या

नियुक्ति का माध्यम

1.

सचिव एवं मुख्यकार्यकारी अधिकारी

1

पूर्णकालिक

2.

लेखा अधिकारी (एस.ए.एस.)

1

सेकंडमेंट पर वित् विभाग (टी० एंड० ए०) (पूर्णकालिक)

3.

कार्यकारी अधिकारी

1

सेकंडमेंट पर हि० प्र० वि० वि० आयोग (पूर्णकालिक)

4.

पी.ए.

 

सेकंडमेंट पर हि० प्र० वि० वि० आयोग (पूर्णकालिक)

5.

चालक

2

अनुबंध पर और एक नियमित आधार पर

6.

चपरासी

1

दैनिक भोगी

7.

अन्य सेवाएं

 

आवश्यकतानुसार व सृजित(आउट सोरस)

 
 
 
इस वेबसाइट में उपलब्ध विषय सूचना हिमाचल प्रदेश भवन एवं अन्य निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड द्वारा प्रकाशित और देखभाल की जाती है | किसी भी प्रकार की पूछताछ के लिए, निम्न नम्बर या ईमेल: cm-bocw-hp@nic.in पर संपर्क करे | वेबसाइट निक द्वारा बनाई गई है |